‘राजू बन गया जेंटलमैन’: जूही चावला बेमन से शाहरुख खान के साथ काम करने के लिए हुई थीं तैयार

नई दिल्ली. शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) और जूही चावला (Juhi Chawla) स्टारर फिल्म ‘राजू बन गया जेंटलमैंन’ (Raju Ban Gaya Gentleman) 13 नवंबर 1992 में रिलीज हुई थी. ये फिल्म कई मायनों में खास है. यही फिल्म थी जब शाहरुख और जूही ने पहली बार साथ काम किया था और 29 साल पहले जूही के बर्थडे पर रिलीज हुई थी. शाहरुख, जूही के अलावा फिल्म में अमृता सिंह (Amrita Singh), नाना पाटेकर (Nana Patekar) भी अहम रोल में थे. आज इंडस्ट्री में एक दूसरे के अच्छे दोस्त माने जाने वाले शाहरुख और जूही की दोस्ती की नींव भी इसी फिल्म से पड़ी थी, जबकि जूही इस फिल्म में किंग खान के साथ मजबूरी में काम करने के लिए तैयार हुई थी. तो आईए, आपको बताते हैं इस फिल्म से जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा.

अजीज मिर्जा के निर्देशन में बनी ‘राजू बन गया जेंटलमैंन’ फिल्म जब बन रही थी, तो शाहरुख खान भी उस समय इंडस्ट्री में नए-नए ही आए थे. फिल्म के प्रोड्यूसर विवेक बासवानी और शाहरुख अच्छे दोस्त थे, इसलिए विवेक ने अपनी इस फिल्म में काम करने का ऑफर दिया. वहीं लीड एक्ट्रेस के तौर पर जूही चावला को लेने का फैसला किया. जूही उस वक्त फिल्म इंडस्ट्री में अपनी ठीक ठाक जगह बना चुकी थीं. आमिर खान के साथ जूही फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’  जैसी सफल फिल्म की हीरोइन रह चुकी थीं. ऐसे में विवेक, जूही से मिलने गए.

विवेक बासवानी जब जूही चावला से फिल्म साइन करवाने गए, तो शाहरुख खान की तारीफ करते हुए जूही से कहा कि फिल्म का हीरो ‘नया लड़का है, फौजी में था औऱ बहुत फेमस है, आमिर खान की तरह दिखता है. ऐसे में जूही ने शाहरुख को लेकर आमिर की तरह दिखने वाले एक चॉकलेटी हीरो की इमेज बना ली थी, लेकिन जब सेट पर पहुंचीं तो जूही ने शाहरुख को देखा तो एक पतला सा सांवला सा लड़का दिखा, जो किसी एंगल से आमिर की तरह नहीं दिखता था. उन्हें लगा कि उनके साथ धोखा हुआ है. जूही चूंकि फिल्म साइन कर चुकी थीं तो ऐसे में फिल्म छोड़ भी नहीं सकती थी. किसी तरह फिल्म पूरी की. हालांकि फिल्म पूरी होते-होते जूही और शाहरुख अच्छे दोस्त बन गए. फिल्म जब रिलीज हुई तो दर्शकों के साथ साथ क्रिटिक्स ने भी जोड़ी को सराहा. इसका जिक्र जूही कई बार अपने इंटरव्यू में कर चुकी हैं.

जूही चावला के साथ ‘Raju Ban Gaya Gentleman’ में पहली बार शाहरुख खान को काम करने का मौका मिला था. (फोटो साभार:Movies N Memories/Twitter )

हालांकि तब जूही चावला को नहीं पता था कि यही लड़का एक दिन उनके सबसे अच्छे दोस्तों में शुमार हो जाएगा. इसके बाद तो इस जोड़ी ने ‘यस बॉस’, ‘डुप्लीकेट’, ‘फिर भी दिल है हिंदुस्तानी’ जैसी फिल्मों में काम किया और दर्शकों ने इस जोड़ी को पसंद किया.

ये भी पढ़िए-शाहरुख खान ने 28 बरस पहले सिखाई थी शिल्पा शेट्टी को एक्टिंग, तब जाकर हिट हो पाई थी ‘बाजीगर’

‘राजू बन गया जेंटलमैंन’ की पटकथा मनोज लालवानी ने लिखी थी और संगीत जतिन-ललित का था. मनोज और अजीज मिर्जा को सर्वश्रेष्ठ पटकथा के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला था. वहीं नाना पाटेकर को फिल्मफेयर का सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का पुरस्कार मिला था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Full Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Present Imperfect We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications