9 Years Of Barfi: अनुराग बासु को जब लगा ‘बर्फी’ के लिए प्रियंका चोपड़ा को ऑफर देकर गलती कर दी

मुंबई:फिल्ममेकर अनुराग बासु (Anurag Basu) की फिल्म ‘बर्फी’ (Barfi) 14 सितंबर 2012 को रिलीज हुई थी. फिल्म की लीड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra)  ने इतने शानदार तरीके से ऑटिज्म पीड़ित लड़की का रोल प्ले किया कि दर्शक उन्हें देखकर दंग रह गए थे. इस फिल्म में उनके साथ रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) थे,जिन्होंने एक गूंगे और बहरे मर्फी  नामक लड़के का रोल निभाया था. फिल्म में दोनों ने बेहद संवेदनशील तरीके से अपने रोल को प्ले कर अपनी शानदार अदायगी का परिचय दिया था. इस फिल्म में कास्ट करने के लिए अनुराग जब प्रियंका के घर गए तब चक्कर में पड़ गए थे.

जब अनुराग बासु ने फिल्म ‘बर्फी’  में प्रियंका चोपड़ा को लेने का सोचा तो उनके सामने प्रियंका की मिस वर्ल्ड वाली इमेज आ रही थी. ऐसे में उन्हें लग रहा था कि पता नहीं झिलमिल के रोल के साथ एक्ट्रेस कितना इंसाफ कर पाएंगी. कुछ बरस पहले फिल्म चैंम्पियन को दिए एक इंटरव्यू में प्रियंका ने बताया था कि ‘जब अनुराग उनसे मिलने उनके घर आए तो उस वक्त एक्ट्रेस किसी इवेंट से लौटी थीं. प्रियंका को देखकर अनुराग ने कहा मुझे लगता है मैंने गलती कर दी है. मुझे लगता है कि किसी ऑटिस्टिक लड़की को ही कास्ट करना चाहिए. ये मेरा स्टुपिड आइडिया है, मैंने कैसे आपसे इस रोल के लिए उम्मीद कर लिया, खुद को देखिए’.

प्रियंका चोपड़ा ने बर्फी में ऑटिज्म पीड़ित लड़की का रोल प्ले किया था. (File)

अनुराग की इस बात पर  प्रियंका चोपड़ा ने उन्हें कन्विंस करते हुए कहा कि उन्हें 5 दिन दें और वर्कशॉप के बाद देखते हैं कि कर पाती हूं या नहीं. प्रियंका ने इसके बाद जो कुछ किया वह दर्शकों के सामने था. ब्यूटी क्वीन के टैग को हटाकर ऐसा शानदार परफॉर्मेंस दिया कि उनके करियर की बेहतरीन फिल्मों में से एक बन गई. डायरेक्टर ने खुद कहा था कि प्रियंका के लिए काफी टफ जॉब था.

इस फिल्म में रणबीर कपूर के एक्टिंग को बेहद सराहा गया था, रणबीर के मुकाबले प्रियंका को उतनी तारीफ नहीं मिली थी. रणबीर के एक्सप्रेशन और बॉडी लैंग्वेज ने क्रिटिक्स को चार्ली चैपलिन की याद दिला दी थी. 2013 के फिल्मफेयर अवॉर्ड में ‘बर्फी’ को 13 कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया था. रणबीर को बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिला था जबकि प्रियंका को बेस्ट एक्ट्रेस अवॉर्ड नहीं मिल पाया था. बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड उस साल विद्या बालन को फिल्म ‘कहानी’ के लिए मिला था. आइफा में फिल्म को 21 कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया था, यहां भी रणबीर को बेस्ट एक्टर अवॉर्ड मिला और प्रियंका चूक गईं. प्रियंका को उस साल का बेस्ट एक्ट्रेस व्यूवर्स च्वॉइस जी सिने अवॉर्ड मिला था जबकि जूरी अवॉर्ड विद्या को मिला था.

ये भी पढ़िए-‘बलवान’ में सुनील शेट्टी के साथ कोई एक्ट्रेस काम करने को नहीं थीं तैयार, तब दिव्या भारती का मिला साथ

‘फैशन’, ‘सात खून माफ’  और ‘बर्फी’ अलग-अलग जॉनर की फिल्में कर प्रियंका ने अपनी दमदार एक्टिंग का लोहा मनवाया है. अवॉर्ड की रेस के अलावा ‘बर्फी’ में प्रियंका की एक्टिंग काबिले तारीफ रही. एक्ट्रेस ने बॉलीवुड के अलावा कई हॉलीवुड फिल्मों में काम किया है लेकिन आज भी अपनी फिल्म ‘बर्फी’ को अपनी एक्टिंग करियर में मील का पत्थर मानती हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Full Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Present Imperfect We would like to show you notifications for the latest news and updates.
Dismiss
Allow Notifications